Home Remedies Treatment of Jaundice in Hindi

जॉन्डिस हिंदी मे पीलिया कहते है। यह एक खतरानक लिवर सम्बंधित बीमारी है। पीलिया होने पर आँख और त्वचा पिला होने  लगता है। बक्त रहते ही पीलिया का इलाज कर लेना चाहिये। पीलिया होने के मुख्य कारण खान पान है। जब कोई जरुरत से जयदा बहार के खाना खाने लगता है तब उसे पीलिया होने का आसार होते है। पीलिया से बचने के लिए बेहद जरुरी है की बहार के भोजन से परहेज किया जाये। पीलिया होने के कारण और इसका घरेलु इलाज कैसे किया जाना चाहिये वो सब मे निचे बताउगा।

पीलिया होने के लक्षण (Symptoms of jaundice)

  • हाथ , पैर और चेहरा मे पिला आ जाना: जब भी किसीको पीलिया होते है तो सबसे पहले खून के रेड सेल येल्लो होने  लगते है जिसके कारण त्वचा की रंग पिला होने लगता है ।
  • नाख़ून का रन पिला होना: खून की कमी के कारण नाख़ून का रंग भी पिला हो  है।
  • आँखो मे भी पीलापन आना: पीलिया कोई भी आदमी आपको देख के बता सकता है की इसको पीलिया हुआ है। सबसे आसान तरीका है आँखो की रंग पिला होना।
  • भूख कम लगना: पीलिया होने पर भूख नहीं के बराबर लगते है। एक दो बार खाने का मन नहीं करते है कोई बात नहीं लकिन रोजाना अगर भोजन करने का मन नहीं करता हो तो ध्यान रखे पीलिया हो सकता है।
  • कमजोरी महसूस करना : भूख कम लगने के कारण लोग कमजोरी महसूस होने लगते है।
  • थकावट महसूस करना : कमजोरी होने पर थकावट भी महसूस करते है।

पीलिया होने के कारण

  • गंदा पानी: पीलिया होने का मुख्य कारण गंदा पानी का उपयोग करना। आजकल लोग गंदा पानी का ज्यादा उपयोग करते है। गाँव मे तो सवच्छ पानी नहीं मिलता है पिने के लिए मगर शहर मे गंदा पानी पिने के लिए लोग पैसे देते है। छोटे रेस्टॉरेंट, ढाबों और रेरि पर गंदे पानी से भोजन बनाया जाता है और पिने के लिए भी गन्दा पानी ही दिया जाता है।
  • मसालेदार भोजन और बहार भोजन करना: मसालेदार भोजन हर समय लिवर को कमजोर करता है। जो लोग बहार भोजन करते है वो लोग ज्यादा मसाले और तीखा भोजन करते है।
  • अल्कोहल: ज्यादा अल्कोहल का सेवन करना पीलिया का मुख्य कारण है। अल्कोहल लिवर को कमजोर करती है।

पिलिया से बचने के लिये आवस्यक सावधानिया (Precaution for Jaundice)

  • पीलिया होने पर मसालेदार भोजन का सेवन ना करे।
  • ज्यादा मात्रा मै अल्कोहल का सेवन न करे।
  • पेट को गर्म करने वाले सब्जी का सेवन ना करे जैसे (आलू)
  • सवच्छ पानी पिये या कम से कम पानी को गर्म करके, छन कर पेय।
  • चाय और कॉफी का सेवन ना करे।
  • मिर्ची, तेल, मै बने सामान का सेवन कम करे।
  • कैल्शियम युक्त पदार्थ का सेवन अधिक करे।

पीलिया से निवारण पाने के घरेलु उपाए (home remedies for jaundice)

  • एक प्याज को अलग अलग छीलकर उसमे निंबू का रस, काली मिर्च और काला नमक मिलकर रोजाना सुबह – शाम खाने से पीलिया टिक हो सकती है।
  • उकुरा हु चना गुड़ साथ रोजाना सुबह सुबह खाने से पीलिया टिक हो सकते है।
  • कम से कम ४ लहसुन ले और इन्हे छीलकर मिक्सचर मे पीसकर इसमें २०० ग्राम दूध मिलाये और रोजन उपयोग करने से पीलिया जड़ से ख़त्म हो सकते है।

पीलिया होने पर जितना रस पिएंगे उतना ज्यादा फायदा होगा।

  • गन्ना का रस: रोजाना कम से कम १ गलस गन्ना का रस पिन चाहिये।
  • मुली का रस: रोजाना कम से कम १ गलस मुली का रस पिन चाहिये।
  • नीबूं का रस : रोजाना कम से कम १ गलस नीबूं का रस पिन चाहिये।
  • खीरा का रस : रोजाना कम से कम १ गलस खीरा का रस पिन चाहिये।
  • नारियल का पानी : रोजाना कम से कम १ गलस नारियल का पानी पिन चाहिये।
  • टमाटर का रस : रोजाना कम से कम १ गलस टमाटर का रस पिन चाहिये।
  • पुदीना का रस : रोजाना कम से कम १ गलस पुदीना का रस पिन चाहिये।

दूघ से बना हुआ पदार्थ का सेवन अधिक मात्रा मे करे। जैसे की

  • रोजाना लस्सी का सेवन करे
  • रोजाना दही का सेवन करे
  • पन्नीर, रशगुले का भी सेवन करे

Leave a Comment

Be the First to Comment!

Notify of
avatar

wpDiscuz