Home Remedies for Treatment of Acidity in Hindi

acidity से लगभग सरे लोग परेशान है चाहे वह जवान, बच्चा या बुजुर्ग कोई भी हो। एसिडिटी एक आम बीमारी है जो कभी भी और कही भी सो सकते है। एसिडिटी अक्शर खान खाने के बाद ही होते है। आप सोच रहे है की एसिडिटी किसको कहते है। खाना खाने के बाद खाने को पचाने के लिए एक एसिड निकलता है जो सही से खान को पचा सके। जब ज्यादा मात्रा मे एसिड निकले और खान सही से नहीं पचे। खाना खाने के बाद पेट मैं गैस बने और थोड़ा थोड़ा दर्द हो ऐसे एसीडिटी कहते है।

एसिडिटी के लक्ष्ण।

  1. पेट मैं दर्द होना
  2. पेट मैं गैस बनना
  3. भूख नहीं लगना
  4. खाट्टा डकार आना
  5. उल्टी होना।
  6. पेट मैं जलन होना।
  7. पेट से गुर-गुर की आबाज आना।

Home Remedies for Treatment of Acidity in Hindi

  1. हरी साग और सब्जी को अधिक मात्रा मे खाने मैं उपयोग करना क्योकि हरी साग और सब्जी मे बिटामिन बी और ई होता है।
  2. रोजाना सुबह सुबह व्यायाम करने से जिसिस एसिडिटी होने सम्भाबना कम होजाते है। अधिक समय तक बैठे नहीं रहना चाहिये।
  3. खाना खाने के तुरंत बाद किसी भी तरह के जल और जूस का सेवन नहीं करे।
  4. पनि मैं नींबू, नमक और चीनी का धोल बना कर पिये जिससे सीने मे जलन कम हो जाये।
  5. ORS का घोल पिए जिससे सीने मे जलन कम हो जाये।
  6. खीरा, ककड़ी, तरबूज, खरबूजा का अधिक मात्रा मे सेवन करे।
  7. नारियाल पनि का सेवन करने से एसिडिटी ख़त्म हो सकते है।
  8. किसी भी तरह से मशालेदार भोजन की सेवन न करे।

Leave a Comment

Be the First to Comment!

Notify of
avatar

wpDiscuz